India

पाक के नापाक मंसूबे: जाधव तक पहुंचने की भारत को है आस, पड़ोसियों को कैसा ऐतराज़?

जाधव

नई दिल्ली/इस्लामाबाद: जबसे पाकिस्तान ने पूर्व भारतीय नौसैनिक अधिकारी कुलभूषण जाधव को फांसी की सज़ा सुनाई है, भारत लगातार उससे मिलने का प्रयास कर रहा है| हाल ही में देश ने जाधव तक राजनयिक पहुंच के लिए 16वीं बार अनुरोध किया, जो पिछली सभी फरियादों की तरह ही पाकिस्तान द्वारा बुधवार को ठुकरा दिया गया| इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ऐसा लगता है कि मानो पड़ोसी मुल्क को जाधव के खिलाफ बुने गए उनके जाल का भांडा फूट जाने का डर हो| जाधव और उसके देश के बीच संपर्क में रुकावट लाने के पीछे और क्या वजह हो सकती है?

और तो और, जाधव के माता-पिता की उनसे मिलने की व्यक्तिगत आग्रह को भी दरकिनार करते हुए भी पड़ोसी मुल्क ने ज़रा भी सोचा नहीं| रेडियो पाकिस्तान की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने भारत की फ़रियाद ठुकराते हुए कहा कि “एक जासूस को राजनयिक संपर्क प्रदान नहीं किया जा सकता|” पाकिस्तान में तैनात भारतीय हाई कमिशनर (उच्चायुक्त) गौतम बंबावाले ने इस मामले को लेकर पाकिस्तानी विदेश सचिव तहमीना जंजुआ से बुधवार को मुलाकात की| उन्होंने जासूसी, तोड़फोड़ जैसे मनगढंत आरोपों में क़ैद जाधव की मां की तरफ से पाकिस्तान सरकार को एक याचिका भी सौंपी|

रेडियो पाकिस्तान के अनुसार, तहमीना ने मामले के कानूनी पहलुओं का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान सरकार जाधव को राजनयिक संपर्क की अनुमति नहीं दे सकती| इसके अलावा अभी तक ये पता नहीं लग पाया है कि पाक विदेश सचिव ने जाधव की उसके माता-पिता से मुलाक़ात के अनुरोध के बारे में क्या कहा|

loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top